Layoffs 2023: अमेरिकी कंपनियों में छंटनी जारी, भारतीयों के लिए H-1B वीजा बना चुनौती, बाइडन ने जताई चिंता

25 January 2023 10:25 AM
Hindi
  • Layoffs 2023: अमेरिकी कंपनियों में छंटनी जारी, भारतीयों के लिए  H-1B वीजा बना चुनौती, बाइडन ने जताई चिंता

वैश्विक आर्थिक चुनौतियों के बीच अमेरिका में छंटनी का दौर जारी है। कई बड़ी टेक कंपनियों ने अपने हजारों कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। इसका असर सीधा उनके परिवार पर पड़ रहा है। इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने चिंता जाहिर की है।


व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जीन पियरे ने मंगलवार को कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति समझते हैं कि नौकरी जाने का असर प्रत्यक्ष रूप से उसके परिवार पर पड़ता है। उन्होंने कहा, उनकी सरकार अर्थव्यवस्था में स्थिरता लाने के लिए प्रयासरत है और वह यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था सभी के लिए काम करती है।


भारतीयों के लिए नौकरी खोजना एक चुनौती
अमेरिका में जिन लोगों को नौकरी से बाहर किया गया है, उसमें बड़ी संख्या में भारतीय आईटी प्रोफेशनल्स भी हैं। वे H-1B वीजा पर देश में रह रहे हैं। अब देश में रहने के लिए उन्हें वीजा नियमों के आधार पर तय समय-सीमा के अंदर नई नौकरी खोजना होगा, जो एक चुनौती भरा काम है। दरअसल, H-1B वीजा एक गैर-आप्रवासी वीजा है, जो अमेरिकी कंपनियों को विदेशी श्रमिकों को नियोजित करने की अनुमति देता है।

गूगल से लेकर फेसबुक तक में छंटनी
बड़ी आईटी कंपनियों की बात करें तो गूगल से लेकर माइक्रोसॉफ्ट और फेसबुक तक में छंटनी का दौर जारी है। पहले माइक्रोसॉफ्ट, फेसबुक, अमेजन जैसी कंपनियों ने कर्मचारियों को नौकरी से बाहर किया। इसके बाद हाल ही में गूगल जैसी दिग्गज कंपनी ने अपने 12000 कर्मचारियों को बाहर करने की घोषणा कर दी। इससे पहले अमेजन से 18 हजार और मेटा से 10 हजार लोगों को निकाला गया था।


Related News

Advertisement
Advertisement
Advertisement