IPL Final: क्या इस बार भी चैंपियन बन जाएगी चेन्नई की टीम? महेंद्र सिंह धोनी के पक्ष में बन रहा अनोखा संयोग

25 May 2023 06:24 PM
Hindi
  • IPL Final: क्या इस बार भी चैंपियन बन जाएगी चेन्नई की टीम? महेंद्र सिंह धोनी के पक्ष में बन रहा अनोखा संयोग

चेन्नई की चार मैचों में गुजरात पर यह पहली जीत थी। इससे पहले तीनों मैच में सीएसके को हार का सामना करना पड़ा था। चार बार चैंपियन बनने वाली चेन्नई की टीम ने इस सीजन में शानदार वापसी की।

आईपीएल के फाइनल में चेन्नई सुपरकिंग्स की पहुंच गई है। वह रिकॉर्ड 10वीं बार खिताबी मुकाबले में उतरेगी। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम रविवार (28 मई) को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेलेगी। फाइनल में उसका सामना मुंबई इंडियंस या गुजरात टाइंटस से होगा। मुंबई और गुजरात के बीच शुक्रवार (26 मई) को क्वालिफायर-2 खेला जाएगा। इस मैच में जीतने वाली टीम दो दिन बाद चैंपियन बनने के लिए उतरेगी।

क्वालिफायर-1 में गत चैंपियन गुजरात टाइटंस को चेन्नई ने मंगलवार (23 मई) को 15 रन से हराया था। चेन्नई की चार मैचों में गुजरात पर यह पहली जीत थी। इससे पहले तीनों मैच में सीएसके को हार का सामना करना पड़ा था। चार बार चैंपियन बनने वाली चेन्नई की टीम ने इस सीजन में शानदार वापसी की। वह पिछले सीजन में प्लेऑफ में भी नहीं पहुंच पाई थी। धोनी की कप्तानी में इस बार टीम ने पहले प्लेऑफ में जगह बनाई और फिर खिताबी मुकाबले में पहुंच गई।

रोहित की बराबरी करने उतरेंगे धोनी
चेन्नई के फैंस से इस बात की दुआ कर रहे हैं कि उनकी टीम पांचवीं बार चैंपियन बन जाए। धोनी की कप्तानी में इस टीम ने 2010, 2011, 2018 और 2021 में चैंपियन बनी है। धोनी सबसे ज्यादा बार आईपीएल जीतने वाले दूसरे कप्तान हैं। उनसे ज्यादा खिताब रोहित शर्मा ने जीते हैं। रोहित ने मुंबई को अपनी कप्तानी में पांच बार चैंपियन बनाया है। धोनी के पास इस बार उनकी बराबरी करने का मौका होगा।

चेन्नई के पक्ष में ये संयोग
आईपीएल में प्लेऑफ फॉर्मेट की शुरुआत 2011 में हुई थी। उससे पहले शीर्ष चार टीमों के बीच सेमीफाइनल मैच होते थे। प्लेऑफ फॉर्मेट आने के बाद चेन्नई की टीम तीन बार खिताब जीती। संयोग से हर बार वह अंक तालिका में दूसरे स्थान पर रही थी। ऐसे में इस बार भी फैंस को यह उम्मीद है कि चेन्नई अपने इस अनोखे रिकॉर्ड को बरकरार रखना चाहेगी।

► 2011 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) पहले स्थान पर थी। उसके 14 मैच में 19 अंक थे। चेन्नई के 14 मैच में 18 अंक थे। इसके बाद क्वालिफायर-1 में दोनों का मुकाबला हुआ। चेन्नई आरसीबी को हराकर फाइनल में पहुंची। वहां उसने आरसीबी को हराकर खिताब पर किया।

► 2018 में सनराइजर्स हैदराबाद और चेन्नई के 14-14 मैचों के बाद 18-18 अंक थे। बेहतर नेट रनरेट के आधार पर हैदराबाद पहले स्थान पर था। चेन्नई ने क्वालिफायर-1 में उसे हरा दिया। फिर फाइनल में भी दोनों टीमें आमने-सामने हुईं। वहां चेन्नई ने जीत हासिल की।

► 2021 में दिल्ली कैपिटल्स 20 अंकों के साथ पहले पायदान पर रही थी। चेन्नई के 18 अंक थे। चेन्नई ने क्वालिफायर-1 में दिल्ली कैपिटल्स को हराया। उसने फाइनल में कोलकाता नाइटराइडर्स को हराकर चौथी बार खिताब पर कब्जा किया।


Related News

Advertisement
Advertisement